SHIVPURI NEWS : तीन साल के मासूम को भयंकर बीमारी से निजात दिलाने मां ने फिर किया गर्भधारण - Aaj Ki Chitthi : पढ़ें हिंदी न्यूज़, Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी बेटे के इलाज में काम आने वाले स्टैम सेल के लिए मां ने फिर किया गर्भधारण गर्भ धारण
  • October 26, 2020

SHIVPURI NEWS : तीन साल के मासूम को भयंकर बीमारी से निजात दिलाने मां ने फिर किया गर्भधारण

Shivpuri News

Shivpuri News

शिवपुरी,
मप्र के शिवपुरी से एक बड़ी अजीब खबर आ रही है। यहां पर एक साढे तीन साल के बच्चे को हुई भयंकर बीमारी से उसकी मां परेशान है और हर माह बच्चे को खून चढवाने की होने वाली कठिनाई से निजात के लिए बेटे के इलाज को दृढ संकल्पित है और यहीवजह है कि बेटे के इलाज में काम आने वाले स्टैम सेल के लिए उसके द्वारा फिर से गर्भ धारण किया गया है। बताया जा रहा है कि जल्द ही वो जुडवां बच्चों की मां बनेगी।

जानकारी के अनुसार शिवपुरी के कोलारस निवासी मनीषा के साढे तीन साल का बेटा है, जिसे थैलेसीमिया जैसी भयानक बीमारी है। इस बीमारी से ग्रसित होने की वजह से बच्चे को हर माह खून चढवाना पड़ता है। जिससे बच्चा भी डरा डरा रहता है और मां भी।

मासूम की इस बीमारी से मनीषा बेहद व्यथित है। उसने चिकित्सकों से इसका इलाज पूछा। बताते हैं कि चिकित्सकों के द्वारा इस बीमारी का उपचार स्टैम सेल से ही संभव होने की जानकारी दी गई। जिसके बाद मनीषा ने तय किया कि वह स्टैम सेल के लिए फिर से गर्भधारण करेगी और अभी मनीषा गर्भ से है, जिसके स्टैम सेल से बह बच्चे का उपचार कराना चाहती है।

तैयार रहेगी चिकित्सकीय टीम

बताया जा रहा है कि मनीषा की डिलीवरी के वक्त चार डॉक्टरों की टीम मौजूद रहेगी। स्टेम सेल के लिए किट भी मंगाई जा चुकी है। मनीषा के स्टेम सेल के लिए कॉड लाइफ स्टेम सेल्स बैंकिंग दिल्ली से करार हुआ है। मीडया खबरों के अनुसार मेडिकल कॉलेज शिवपुरी के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. विद्यानंद पंडित ने बताया है कि स्टेम सेल उन अनुवांशिक बीमारियों के इलाज में कारगर है, जिनका मौजूदा समय में कोई इलाज नहीं है। इसलिए लोगों को स्टेम सेल सुरक्षित रखना चाहिए, क्योंकि 20 साल की उम्र तक बच्चों की बीमारियों का पता चलता है।

aajkichitthi

Read Previous

GWALIOR NEWS : बंदूक चाहिए तो अब घर के बाहर पौधा लगाकर महीनेभर तक करना होगी देखभाल

Read Next

NIMACH NEWS : छह घण्टे से खेल रहा था पबजी, गेम हारा तो चीखा और निकल गई जान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *