दीपोत्सव ने रचा इतिहास 606,569 रोशन दीयों का आयोजन बना विश्व रिकॉर्ड - Aaj Ki Chitthi : पढ़ें हिंदी न्यूज़, Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी
  • November 24, 2020

दीपोत्सव ने रचा इतिहास 606,569 रोशन दीयों का आयोजन बना विश्व रिकॉर्ड

Deepotsav created a world record of 606,569 illuminated lamps created history

भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्‍या धाम में हुए दीपोत्‍सव आयोजन ने इतिहास रच दिया है। सरयू नदी के घाटो  पर हाल ही में हुए इस विराट, भव्‍य प्रकाशनमान आयोजन ने विश्‍व कीर्तिमान बना दिया है। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड ने इस आयोजन को दर्ज करके इसकी सूचना दी है। दीपोत्‍सव में 606,569 यानी 6 लाख 6 हज़ार 569 मिट्टी के दीये 5 मिनट से अधिक समय तक प्रज्‍जवलित रहे थे। चार दिवसीय दीपोत्सव में जले दीपों के साथ रामनगरी जगमग हो गई। अयोध्या में ‘दीपोत्सव’ समारोह ने सरयू नदी के तट पर मिट्टी के दीपक जलाए जाने के बाद ‘तेल के सबसे बड़े प्रदर्शन’ के लिए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने का रिकॉर्ड बनाया है। कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर इस बार रामनगरी अयोध्या में दीपोत्सव पर पाबंदियां सख्त रहीं। भीड़ एकत्र न होने पाए इसके लिए रामनगरी में बाहरी लोगों का प्रवेश पूरी तरह से प्रतिबंधित रहा। 492 वर्ष बाद श्रीरामलला विराजमान प्रांगण में दीप जलने के बाद 13 नवंबर 2020 का दिन लोगों को बेहद यादगार बन गया। सीएम योगी आदित्यनाथ के प्रयास से लोगों ने एक्चुअल हो या वर्चुअल दिवाली का भरपूर आनंद लिया। इसके साथ ही अयोध्या में विश्व रिकॉर्ड भी बन गया। एक्चुअल हो या वर्चुअल, योगी आदित्यनाथ की इस बार की दिवाली ने पूरी दुनिया का ध्यान आकर्षित किया। 492 वर्ष के लम्बे इंतजार के बाद इस बार पहला अवसर था जब श्री रामजन्मभूमि स्थल पर एक साथ इतने  दीप जलाए गये।

अयोध्या में ‘दिव्य दीपोत्सव’ आयोजित कर श्रीराम का ‘स्वागत-अभिनंदन’ किया गया तो दुनिया भर के ऐसे श्रद्धालु जो, भौतिक रूप से अयोध्या नहीं पहुंच सके, उन्हेंं ‘वर्चुअल दीपोत्सव’ के जरिये इस कार्यक्रम में भी सहभागिता का बड़ा अवसर मिला। सरकार का खास प्लान ‘वर्चुअल दीपोत्सव’ श्रद्धालुओं को खूब भाया। अब तक करीब 12 लाख श्रद्धालुओं ने इस वर्चुअल प्लेटफार्म के जरिये श्री रामलला विराजमान दरबार में हाजिरी लगाई है। देश के सभी राज्यों से तो राम भक्तों ने वर्चुअल दीप प्रज्ज्वलित किया। इसके साथ ही यूएस, यूके, यूएई, मलेशिया, नेपाल, साउथ कोरिया, भूटान आदि देशों से भी बड़ी संख्या में लोगों ने सहभागिता की।

aajkichitthi

Read Previous

फिलहाल नहीं होगा मंत्री मण्डल विस्तार, कोंग्रेस ने बताया स्वागत योग्य कदम

Read Next

श्योपुर किले में जल्द बनकर तैयार होगा नया म्यूजियम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com