श्योपुर, बड़ोदा मे आज तो, कराहल कस्बे मे कल मनाया जाएगा दशहरा उत्सव - Aaj Ki Chitthi : पढ़ें हिंदी न्यूज़, Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी
  • November 24, 2020

श्योपुर, बड़ोदा मे आज तो, कराहल कस्बे मे कल मनाया जाएगा दशहरा उत्सव

Dussehra festival will be celebrated in Sheopur, Baroda today, tomorrow in Karahal town

श्योपुर व्युरों ,

कोरोना काल के बीच अबकी बार तिथियो के मेल से जिले मे दशहरा पर्व दो दिन मनाया जाएगा , रविवार के साथ सोमवार को भी दशहरे का पर्व कई गांवो ओर शहरो मे मनाया जाएगा। वही कोरोना के कारण इस बार रावण का दहन छोटे स्वरूप मे होगा। श्योपुर ओर बड़ोदा मे आज शोभायात्रा के साथ रावण का दहन होगा , जबकि कराहल  कस्बे मे सोमवार को दशहरा पर्व मनाया जाएगा ।

कराहल के गोरस गाँव मे दशहरे पर लूटी जाती है लंका की मिट्टी

आदिवासी विकासखंड कराहल के गाँव पहेला के ग्रामीणों के लिए लंका की मिट्टी सोने से कम नहीं है यही कारण है कि वहा  के लोग दशहरे को जलने वाली लंका की मिट्टी को सोने से भी ज्यादा संभाल कर रखते है। सालो से चली आ रही परंपरा का निर्वहन विजयादशमी  के अवसर पर देखने को मिलेगा।

आदिवासी विकासखण्ड मुख्यालय कराहल से तीस किलोमीटर दूर स्थित ग्राम पहेला मे दहशरे के दिन रावण वध के लिए भी अलग तरह की प्रथा है। इसके तहत रावण का वध जलाकर नहीं बल्कि उसे मारा जाता है मिट्टी के बने इस पुतल को पहले तो लोग मारते है ओर फिर इस मिट्टी  को ग्रामीण सोना मानकर लूटते है जिसे वह पूरे साल संभालकर रखते है।        प्राचीन परंपरा के तहत रावण को मारने से पहले ग्रामीण रामजानकी मंदिर एकत्रित होते है जहा गीली मिट्टी से भरा मटका गाँव वाले शंख , झालर, ओर ढ़ोल धमाको के साथ एकत्रित होकर एक चबूतरे पर पहुचते है इस चबूतरे पर मिट्टी से भरे मटके को रखकर ग्रामीण उस पर पत्थर से निशाना साधते है ओर मटका फूटने के बाद वे उस मिट्टी को लूटने के लिए दोड पडते है सालो से चली इस परंपरा का निर्वहन किया जा रहा है।

दुर्गा प्रतिमाओ का आज होगा विसर्जन

दशहरे का समारोह जहा शाम को मनाया जाएगा , वही इससे पूर्व दिन मे दुर्गा प्रतिमाओ का विसर्जन होगा । रामनवमी के चलते विभिन्न पांडलों मे विराजित माँ जगत जननी जगदंबा का विसर्जन किया जाएगा जिनके चल समारोह मे सिर्फ 8 व्यक्ति को ही जाने की अनुमति दी है।  पहली दफा दुर्गा प्रतिमाओ का विसर्जन बंजारा डेम मे न होकर इस वर्ष पास ही बनाए गए तालाब मे किया जाएगा इस आशय के आदेश जिला प्रशासन की ओर से पांडाल  आयोजको को जारी कर दिये गए है वही नगर पालिका को भी सम्पूर्ण तयारिया समय रहते ताकीद कर दिया गया है ।

aajkichitthi

Read Previous

कूनों के जंगल में मौजूद ‘नटनी खोह’ के पीछे की “कहानी” है अजब, कभी यहां था भव्य नगर, जो नटनी का सूत कटने से उजड़ा

Read Next

नगर पालिका का अधूरा नाला,बना लोगों के लिए बड़ी मुसीबत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com