खण्डवा पुलिस ने पकडे हाईवे लुटेरे: 100 किमी तक रैकी कर सुनसान हाइवे पर करते थे लूटपाट, चार गिरफ्तार, डेढ करोड़ का माल बरामद - Aaj Ki Chitthi : पढ़ें हिंदी न्यूज़, Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी

खण्डवा पुलिस ने पकडे हाईवे लुटेरे: 100 किमी तक रैकी कर सुनसान हाइवे पर करते थे लूटपाट, चार गिरफ्तार, डेढ करोड़ का माल बरामद

 

खंडवा.

इंदौर-इच्छापुर हाइवे पर ट्रकों की रैकी कर लूटपाट करने वाला गिरोह पुलिस के हत्थे चढ़ा है। पुलिस ने चार लुटेरों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से डेढ करोड़ रुपए से अधिक कीमती माल बरामद किया है। पूछताछ में आरोपियों ने मप्र सहित अन्य राज्यों में दस से अधिक वारदातें करना कबूल की है। जिनके संबंध में पुलिस जांच कर रही है। पुलिस की यह जिले में अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है। शुक्रवार को मामले का खुलासा करते हुए एसपी डॉ. शिवदयाल सिंह ने बताया धनगांव और छैगांवमाखन थाना क्षेत्र में हाइवे पर ट्रकों में हुई लूटपाट की जांच करते हुए मुख्य आरोपी राजाराम पिता ओकारजी मालवीय (51) निवासी अरनिया जागीर सहित आरोपी रमजानअली पिता मकसूद अली (29) निवासी सुभाष चौक मिर्जाबाग, छोटे खान पिता शब्बीर (30) निवासी रसुलपुर और मनोज पिता अंबाराम सैनी (30) निवासी ग्राम पिपलानी (देवास) को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से देशी कट्टा, जिंदा कारतूस, चाकू-छुरे और तीन आयशर वाहन सहित 16 लाख कीमती गुटखा-पाउच जब्त किया है। मामले में आरोपी मनोज को कोर्ट पेश कर जेल भेजा है। वहीं अन्य तीन आरोपियों को पुलिस रिमांड पर लिया है। जिनसे अन्य वारदातों के संबंध में पूछताछ की जा रही है। महंगे सामान से लदे ट्रकों को बनाते थे निशाना आरोपियों की गैंग इंदौर में ट्रांसपोर्ट के आसपास सक्रिय रहती थी। वह महंगे सामान से लदे ट्रकों को चिंह्नित कर निशाना बनाते थे। ट्रक रवाना होते ही गैंग पीछे लग जाती थी। करीब 100 किमी तक रैकी करने के बाद सुनसान हाइवे देख चार पहिया वाहन सामने अड़ाकर ट्रक रोकते और चालक व परिचालक को हथियार की दम पर बंधक बनाते थे। वहीं कार में ले जाकर हाइवे से अंदर खेतों में हाथ-पैर बांधकर फेंक देते थे। ताकि वह वारदात के कुछ घंटों तक पुलिस की मदद न ले सकें और आरोपी सुरक्षित भाग सके।

ऐसे चलता था लूट का यह कारोबार

गुटखा-पाउच व लहसुन सहित अन्य कीमती सामान से लदे ट्रकों को लूट कर आरोपी उसके सहयोगियों को देते थे। वह ट्रांसपोर्ट के जरिये गोवाहाटी और आसाम सहित अन्य राज्यों में बेचते थे। आरोपियों को दूसरे राज्यों में सामान बेचने पर मोटी कीमत मिलती थी। मामला सामने आते ही पुलिस लूट का माल परिवहन करने में मदद और खरीदी करने वालों की तलाश कर रही है। एसपी डॉ. सिंह के अनुसार पूरे मामले में दस करोड़ से अधिक का माल बरामद किया जाएगा। साथ ही एक दर्जन से अधिक आरोपियों की गिरफ्तारी जल्द होगी। वारदातों का मास्टर माइंड राजाराम हाइवे पर लूटपाट करने की वारदातों का मास्टमाइंड आरोपी राजाराम मालवीय है। वह लगभग सभी वारदातों में शामिल रहा है। ट्रकों की रैकी कर अलग-अलग गैंग बनाकर वारदातों को अंजाम दिया जाता था। पूछताछ में आरोपियों ने हयातनगर कर्नाटक, थाना अकनेरा जिला झालावाड़ राजस्थान, थाना शंभुपुरा जिला चित्तौरगढ़, थाना रहटगांव हरदा और थाना भोरासा देवास में करना कबूल की है। इसके अलावा अन्य वारदातों के संबंध में भी सुराग उगले हैं। जिसको लेकर पुलिस संबंधित थानों से जानकारी जुटा रही है। कार्रवाई टीम को इनाम वारदातें सामने आते ही धनगांव व छैगांवमाखन पुलिस ने तफ्तीश शुरू की।

टीम को मिलेगा पुरस्कार

सीसीटीवी फुटेज और मोबाइल लोकेशन के आधार पर आरोपियों को दबोचा। कार्रवाई टीम को एसपी ने दस हजार के इनाम की घोषणा की। टीम में धनगांव टीआई कुशल सिंह रावत, एसआई सीताराम सोलंकी, राधेश्याम, अयाज, राजरतन, प्रदीप, गोपाल सहित अन्य पुलिसकर्मी शामिल थे। इन वारदातों में खुलासा हुुुआ है।

केस 2

थाना धनगांव क्षेत्र में 12 जुलाई की रात पान-मसाला के 100 बैगों से भरे आयशर (एमपी 13 जीए 6136) को चार आरोपियों ने चालक मोहन सिंह भीलाला निवासी रामपुरा उदयनगर (देवास) से मारपीट कर लूटा था। उन्होंने चालक के हाथ-पैर बांधकर सुनसान क्षेत्र में फेंका था। वारदात में 40 लाख कीमती सामान व ट्रक लूटा गया था।

केस 1

थाना छैगांवमाखन क्षेत्र में 13 अक्टूबर की रात आरोपियों ने ट्रक सामने चार पहिया वाहन अड़ाकर चालक व परिचालक को बंधक बनाया था। हाथ-पैरबांधकर इस्लामपुर के पास खेत में फेंका और लहसुन से लदे ट्रक को ले भागे थे, जिनकी कीमत 70 लाख थी।

Aaj kichitthi

Read Previous

खण्डवा की सड़कों पर दौड़ी बाइक तो खड़े होकर सेल्यूट मारते दिखे जवान, दूकानदार दिखे निश्चिन्त

Read Next

सबलगढ़ विधायक कुशवाह दीपावली की बधाइयां लेकर व्यापारियों के बीच पहुंचे, लोगों को गले मिलकर दी शुभकामनाएं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *