अब महिला यात्रियों को टिकिट न होने पर रास्ते में नहीं उतार सकेगा टीटीई - Aaj Ki Chitthi : पढ़ें हिंदी न्यूज़, Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी
  • September 23, 2020

अब महिला यात्रियों को टिकिट न होने पर रास्ते में नहीं उतार सकेगा टीटीई

STRI ( स्त्री की चिट्ठी ) Ladies News

STRI ( स्त्री की चिट्ठी ) Ladies News

महिलाओं को इसकारण से होने वाली कठिनाई के बाद याद आया निर्णय, सख्ती से शुरू होगा पालन, जनरल के टिकिट पर थर्ड एसी में पहुंचने पर भी महिलाओं को जबरन बाहर नहीं कर सकेगा टीटीई

मुरैना,
यात्रा के दौरान महिलाओं को कठिनाई न हो इसके लिए महिला हित में कई निर्णय लिए गए हैं। इनमें से प्रमुख निर्णय है महिलाओं के टिकिट न होने पर भी उन्हें गंतव्य तक यात्रा करने दिए जाने का। अब टिकिट न होने पर भी महिला यात्रियों को टीटीई बीच रास्ते में नहीं उतार सकेगा। रेलवे को खुद का बनाया यह नियम ऐसी स्थितियों की वजह से पिछले दिनों हुई घटना के बाद याद आया है।

रेलवे के इस नियम के अनुसार ट्रेन में अकेले यात्रा कर रही महिला यात्री बिना टिकट भी यदि यात्रा कर रही है तब भी उसे ट्रेन से नीचे नहीं उतारा जा सकता। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर किसी ट्रेन में यात्रा कर रही महिला को विदाउट टिकट होने के आरोप में किसी स्टेशन पर उतार दिया गया तो उसके साथ अनहोनी हो सकती है।

इसलिए रेलवे ने तय करते हुए यह नियम लागू कर दिया है कि ट्रेन में बिना टिकट यात्रा कर रही महिला यदि अकेली है तो उसे यात्रा करने दिया जाए, उसे सुरक्षित डेस्टिनेशन स्टेशन यानी जहां तक उसे जाना है वहां तक जाने दिया जाए।

28 साल पहले बनाया नियम, रेलवे को अब जाकर आया याद

कहने को तो रेलवे ने महिला यात्रियों के लिए यह नियम 28 साल पहले बनाया था। सन् 1989 में रेलवे मैन्युअल में महिला यात्री के लिए ऐसा ऑर्डर दिया गया था, लेकिन समय के साथ इस नियम को सभी भूल चुके थे। अधिकतर रेलवे टीटीई व कॉमर्शियल डिपार्टमेंट के ऑफिसरों को भी यह याद नहीं था। रेलवे ने अब इस नियम को इसलिए लागू किया है ताकि ट्रेन में यात्रा के दौरान महिलाओं के साथ कोई अनहोनी न हो सके। वे सुरक्षित अपने डेस्टिनेशन तक पहुंच सकें।

वैटिंग टिकिट पर आरक्षित कोच में यात्रा कर सकेंगी महिला यात्री

महिलाओं के लिए दी गई सौगात में रलवे की ओर से यह भी तय किया गया है कि यदि कोई महिला आरक्षित कोच में यात्रा कर रही है और उसकी सीट कन्फर्म नहीं है लेकिन वेटिंग लिस्ट मेंउसका नाम है, तब भी उसे ट्रेन में यात्रा के दौरान कोच से बाहर नहीं निकाला जा सकेगा। वह वेटिंग टिकट पर भी यात्रा कर सकती है। यही नहीं महिला यात्री ने यदि स्लीपर का टिकट लिया है और वह थर्ड एसी में यात्रा कर रही है तो उससे केवल टीटीई अनुरोध कर सकता है कि वह स्लीपर कोच में जाए। उसके साथ जबरदस्ती करके दूसरे कोच में नहीं भेज सकता।

aajkichitthi

Read Previous

जानिये क्या बोले आज के राशिफल 22 मई बुधवार 2019

Read Next

MORENA NEWS : सीएसपी की विनती बाद ३१ तक के अल्टीमेटम के साथ संत श्री ने समाप्त किया अनशन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *