सबलगढ़ - अनशन पर बैठे ग्रामीण , प्रशासन सो रहा कुंभकरण की नींद - Aaj Ki Chitthi : पढ़ें हिंदी न्यूज़, Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी

सबलगढ़ – अनशन पर बैठे ग्रामीण , प्रशासन सो रहा कुंभकरण की नींद

मोहन पचौरी 

मुरैना जिले की सबलगढ़ तहसील के अंतर्गत बेरई गिर्द  ग्राम पंचायत में हो रहे भ्रष्टाचार व अनियमितताओं के खिलाफ 6 महीने से संघर्ष कर रहे भाजपा ग्रामीण मंडल उपाध्यक्ष लोकेंद्र सिंह रावत ने प्रत्येक अधिकारी कलेक्टर एसडीएम जनपद सीओ सभी को आवेदन देकर भ्रष्टाचार से अवगत कराया लेकिन दिनांक तक सुनवाई ना होने पर  भूख हड़ताल पर बैठ गए ।लेकिन प्रशासन के सरकारी नुमाइंदा एक भी अभी तक धरना स्थल पर नहीं पहुंचा यह माने कि प्रशासन कुंभकरण की नींद सो रहा है।  6 महीने से सभी अधिकारियों का आवेदन दे रहे ग्रामीण लेकिन  कार्यवाही ना होने से प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े हो रहे है साथ साथ सदेह के  घेरे में तो प्रशासन भी आता है कहीं ना कहीं प्रशासन की मिलीभगत होने के कारण यह मामला तूल पकड़ रहा है

‘आज से अनशन पर ग्रामीण’

चौथे दिन भी भूख हड़ताल पर बैठे रहे ग्रामीण ,अभी तक कोई अधिकारी नही पहुँचा मिलने, आज से करेंगे आमरण अनशन।

ग्राम पंचायत बेरई गिर्द में
अधूरा नाली सड़क निर्माण को पूरा कराने की मांग को लेकर विरोध में गांव के ग्रामीण चौथे दिन भी क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठे लेकिन अभी तक ग्रामीणों की समस्या का निराकरण नहीं हो सका ।ग्रामीणों से मिलने के लिए कोई अधिकारी नहीं पहुंचा जिस पर ग्रामीणों ने कहा कि जब तक मांग पूरी नहीं हो जाती तो धरना पर बैठे रहेंगे वहीं आज शनिवार से क्रमिक भूख हड़ताल ना करते हुए आमरण अनशन के रूप में तब्दील कर दिया जाएगा।
आज शासकीय डॉक्टर रेवानंद शर्मा धरना स्थल राम मंदिर चौराहे पर पहुंचे वहां धरने पर बैठे लोगों का चेकअप किया।
उल्लेखनीय है कि बेरई गिर्द पंचायत में पोखर से गांव तक किए जा रहे नाला निर्माण में सरकारी जमीन पर अतिक्रमण हटाकर नाला सीधा रखने की मांग को लेकर ग्रामीण नगर के राम मंदिर चौराहे पर टेंट लगाकर क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठे हुए हैं  धरने पर बैठे भाजपा ग्रामीण मंडल के उपाध्यक्ष लोकेंद्र रावत ने कहा है कि यहां प्रशासन सरकारी जमीन पर अतिक्रमण को हटाना नहीं चाहता जब किसी दो बार सीमांकन तो हो चुका है इसके बावजूद अधिकारी कार्यवाही नहीं कर रहे हैं उधर धरने पर बैठे ग्रामीणों की मांग के संबंध में कोई भी अधिकारी भी धरना स्थल पर अभी तक नहीं पहुंचा है ना ही समस्या हल कराने का किसी तरह का आश्वासन दिया गया है ।

Aaj kichitthi

Read Previous

खरगोन में आंखों पर हेडलाइट की रोशनी आने से दो बाइकों की भिडंत, तीन की मौत

Read Next

खरगोन में अनोखी शादी…पुलिस जवान बने खराती-बराती, थाने में कराया प्रेमी युगल का विवाह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *