Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
सिंधिया का श्योपुर दौरा: व्रजराज रहे 'हीरो' विधायक जंडेल उपेक्षित तो रामनिवास भी दिखे संघर्ष करते - Aaj Ki Chitthi : पढ़ें हिंदी न्यूज़, Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी

सिंधिया का श्योपुर दौरा: व्रजराज रहे ‘हीरो’ विधायक जंडेल उपेक्षित तो रामनिवास भी दिखे संघर्ष करते

सिंधिया के श्योपुर में बिताए पांच घंटे कार्यकर्ताओं में एक नई ऊर्जा का संचार कर गए। दौरे के दौरान ब्रजराज सिंह चौहान ‘हीरो’ के तौर पर सामने रहे, जबकि विधायक जंडेल साथ होकर भी दूर दिखाई दिए। सबसे ज्यादा हैरान रामनिवास रावत के प्रति सिंधिया के व्यबहार ने किया, जो चोंकाने बाला रहा, या यूँ कहें तो कोई अतिश्योक्ति नही होगी कि सिंधिया गुट के एक बडे नेता के तौर पर स्थापित मप्र के कार्यकारी अध्यक्ष रामनिवास रावत भी पुरे दौरे में उपेक्षित बने रहे,

ज्योतिरादित्य सिंधिया का श्योपुर दौरा हो गया है। इनका दौरा राजनेतिक दृष्टिकोण से जहाँ खुद की जमीन तलाशने बाला और समर्थकों को जानने बाला रहा, वहीँ कई पुराने चेहरों को उनकी सीमा दिखाने बाला भी रहा। दौरे के बाद जो एक संदेश साफ़ तौर पर लोगों के बीच गया, वह यह की सिंधिया श्योपुर में अब भी व्रजराज की आँखों से ही देखेंगे। हालांकि उन्होंने अपने दौरे के दौरान साफ़ तौर पर सबको साथ लेकर चलने का संदेश देने का प्रयास किया और दिग्विजय गुट से माने जाने बाले विधायक के घर और पूर्व मंत्री के घर भी पहुंचे, मगर वजन सिर्फ व्रजराज को ही दिया।

अफसरों को इशारों में समझाया

सिंधिया अपने दौरे के दौरान प्रशासनिक अधिकारियों को भी यह मैसेज देने में सफल रहे की उनको व्रजराज सींह चोहान की सुनना है। दरअसल सिंधिया ने अफसरों से विकास के मुद्दे पर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष व्रजराज सिंह चौहान के निवास पर बात की। जाहिर है कि चर्चा के नाम पर अफसरों को यह मैसेज दे दिया गया कि यह बो ठिकाना है जहाँ में आता हूँ, लिहाजा इनको सुनना है।

5 मिनट में समझे हालात-जाने विश्बसनिय के नाम

बन्द कमरे में व्रजराज सिंह चौहान से सिंधिया ने बातचीत की। यह दो लोगों के बीच की बातचीत थी लिहाजा इन दो के अलाबा तीसरे को इसका मालूम नही, लेकिन राजनीती के जानकार मानते हैं कि सिंधिया ने चौहान से श्योपुर के हालात पर बात की, कांग्रेस कार्यकर्ताओं की स्थिति को समझा, पूछा कि यहाँ पर कौन कौन अभी डबल क्रॉस की रणनीति पर है, किसपर भरोसा किया जाये किसपर नही। पूरी तरह से राजनेतिक हालात पर यह चर्चा हुई।

निगम मण्डल में व्रजराज…

चर्चा तो यह भी है कि इस एकांत की चर्चा में व्रजराज सिंह चौहान ने सिंधिया से बातचीत के बाद आखिर में निगम मण्डल की ख्वाहिश भी जाहिर की। जिसपर समय के साथ बेहतर होने का विश्वास सिंधिया द्वारा चोहान को दिया गया।

 

सिंधिया ने क्यों कहा कि मुझे कहाँ जाना है ये में तय करूँगा..

श्योपुर प्रवास के दौरान सिंधिया का स्वागत करते हुए स्टेडियम के पास सेवादल के पूर्व जिला अध्यक्ष संजीव कुशवाह नाराज होते हुए सिंधिया से बोले कि आप उन लोगों के यहां जा रहे हो जिन्होंने कांग्रेस को हराया है और हम जैसे लोग जो पार्टी के लिए रात-दिन एक कर रहे है उनके यहां आप नहीं जाते। इस पर सिंधिया भड़क गए और उन्होंने कहा मुझे कहां जाना है कहां नहीं जाना है यह तुम-लोग तय नहीं करोगे यह तय करना मेरा काम है, बहस मत करो जितना जल्दी समझ जाओगे उतना अच्छा है| इसके बाद सिंधिया वहाँ से रवाना हो गए|

Aaj kichitthi

Read Previous

सबलगढ़ बेर्किंग – कैलारस के युवक का शव खानपुरा की नहर के पास पत्थर से कुचला मिला , पुलिस जाच मे जुटी

Read Next

खण्डवा की सड़कों पर दौड़ी बाइक तो खड़े होकर सेल्यूट मारते दिखे जवान, दूकानदार दिखे निश्चिन्त

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *