श्योपुर में कोरोना रोगी के अंतिम संस्कार को गई टीम को रोकने पहुंची महिलाओं ने किया हंगामा - Aaj Ki Chitthi : पढ़ें हिंदी न्यूज़, Latest and Breaking News in Hindi, हिन्दी समाचार, न्यूज़ इन हिंदी
  • November 24, 2020

श्योपुर में कोरोना रोगी के अंतिम संस्कार को गई टीम को रोकने पहुंची महिलाओं ने किया हंगामा

श्योपुर में कोरोना रोगी के अंतिम संस्कार को गई टीम को रोकने पहुंची महिलाओं ने किया हंगामा
सलापुरा आदिवासी बस्ती की महिलाओं ने सीप नदी के किनारे बने मुक्तिधाम पर किया हंगामा,
महिलाएं बोली- पहले तो कहते थे कि कोरोना पॉजिटिव से दूर रहो लेकिन अब हमारी बस्ती में ही जला रहे हो तो क्या अब नहीं फेलेगा क्या कोरोना, महिलाओं ने किया कोरोना मरीज के अंतिम संस्कार का विरोध, किया हंगामा, महिलाओं को बहला-फुसलाकर किया अंतिम संस्कार, महिलाओं ने प्रशासन की गाड़ियों पर किया पथराव, मामला- कराहल के रामपुरा डांग का निवासी था मृतक
https://youtu.be/pfGJ4Abu0T0
कोरोना से जिले में बुधवार को फिर एक मौत और हो गई। दो दिन के भीतर कोरोना से हुई इस दूसरी मौत के बाद शव को अंतिम संस्कार के लिए सलापुरा के ऊपर मौजूद सीप नदी के किनारे बने मुक्तिधाम में लेकर गए नपा व प्रशासन के अमले को यहां भी बनी आदिवासी बस्ती की महिलाओं का भारी विरोध का सामना करना पड़ा है। तहसीलदार की मौजूदगी के बाद भी विरोध के लिए यहां पहुंची महिलाओं ने नपा की गाड़ी पर पथराव तक कर दिया। विरोध का यह आलम देखकर एक बारगी तो नपा व प्रशासन के अमले के हाथ पैर फूल गए,
मामला इस प्रकार है कि जिला चिकित्सालय में बुधवार को फिर से एक और कोरोना पॉजीटिव व्यक्ति रामस्वरूप की मौत हो गई। दो दिन के भीतर हुई कोरोना पॉजीटिव रोगी ग्राम रामपुरा डांग निवासी रामस्वरूप पुत्र बिसन आदिवासी (43) की मौत के बाद फिर नपा अमले को शव अंतिम संस्कार के लिए सौंप दिया गया। लेकिन फिर वही ढेंगदा में बीते रोज हुए विरोध के बाद नपा व प्रशासनिक अमले ने शव को दूसरे स्थान पर जलाने का निर्णय किया और सलापुरा के ऊपर मौजूद सीप नदी के किनारे मुक्तिधाम का चयन किया।
वहां अमला शव लेकर जैसे ही पहुंचा, इसका पता आजपास की बस्ती के लोगों को चला, वहां से महिलाओं का जत्था हाथ में डंडे आदि लेकर पहुंच गया और अंतिम संस्कार किए जाने का विरोध करने लगा। मौके पर नपा अमले के साथ मौजूद नायब तहसीलदार राघवेन्द्र कुशवाह ने सभी को समझाने का प्रयास किया, पर वह नहीं मानी, बमुिश्कल से अमले ने कोविड की गाइड लाइन के मुताबिक बुधवार को सुबह 10:00 बजे के आसपास मुक्तिधाम में मृतक का अंतिम संस्कार कर दिया गया

कोराना मृतकों काे बनाएंगे नया मुक्ितधाम

कोरोना मृतकों की मौत के बाद उनके अंतिम संस्कार को लेकर होने वाले इस विरोध ने प्रशासनिक अफसरों को भी चिंता में डाल दिया है। दो दिन के भीतर दो कोरोना पॉजीटिवों की मौत और उसके बाद उनके अंतिम संस्कार को लेकर हुए विरोध के बाद अब प्रशासनिक अमला समस्या के समाधान की तलाश में जुट गया है और एसडीएम रूपेश उपाध्याय ने कहा है कि अधीनस्थों की शिकायत के बाद उन्होंने वरिष्ठजनों से बात की है,एक नया कोविड मुक्ितधाम बनाया जाएगा, उसके लिए जमीन का चिन्हांकन करने के िनर्देश अमले को दे दिए गए हैं। उन्होंने आज हुए विरोध और पथ्ाराव को लेकर कहा कि महिलाओं ने अज्ञानतावश विरोध किया है, पर पथराव नहीं हुआ है।

aajkichitthi

Read Previous

श्योपुर- अवैध मदिरा के खिलाफ आबकारी विभाग श्योपुर द्वारा ग्राम हलगावड़ा में दी दबिश

Read Next

कैलारस जनपद की दुकानों पर 3.38 लाख का किराया बाकी,दुकानों में कारोबार करने वाले लोगों ने पांच साल से अदा नहीं किया किराया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com